क्या. आप जानते है भारत में शादी से जुड़ी कुछ अलग परंपरायें…

0
243

क्‍या आप जानते है भारत में शादी से जुड़ी कुछ अलग परंपरायें…

भारत अनेको वेश भुषा तथा अनेको वोलीयों बाला देश है इसमें हर धर्म जाती एंव सम्‍मुदाये के लोगों का अपने आलग आलग रिवाल है भारत एक ऐसा देश है जिसमें देश प्‍यार और एकता के सु्त्र से बंधा हुआ है पर अपने जाति और धर्म्र को मानकर अलग अलग पंरपराये है ऐसा ही शादी को लेकर सभी की अलग अलग पंरापराये है

  1. वर का पानी: हिंदू शादियों में कई जगह शादी होने से पहले दुल्हन को वर का पानी यानी कि दूल्हे का नहाया हुआ पानी भेजा जाता है ताकि दुल्हन उस पानी से नहा सके और जीवन भर दूल्हे के ऊपर आने वाली हर मुसीबत को खुद पहले झेलने के लिए तैयार रहे।
  2.  झाड़ू देना: कुछ जगहों पर लड़की की शादी के बक्से के साथ झाडू रखने का रिवाज है, ताकि लक्ष्मी उसके साथ हमेशा रहें।

3. जूठी सुपाड़ी: हिंदू शादियों में कुछ जगह दूल्हे को दुल्हन की जूठी उस सुपाड़ी को खाने को दिया जाता है जो कि वो सुबह से मुंह पर रखी होती है, ताकि जूठा खाने से प्यार बढ़े।

  1. पुड़ी पर पैर रखना: कुछ जगहों पर जब दुल्हन शादी करके ससुराल आती है तो उसे पूड़ियों पर से पैर रखकर गुजरना होता है, इसके पीछे यह माना जाता है कि लड़की के आने से घर-भर हमेशा भरा रहेगा।
  2. एमपी के कुछ आदिवासी परिवारों में शादी से पहले लड़के वाले लड़की के घर पर सांप वाली पेटी पहुंचाते है और लड़की वाले उस पेटी को जंगल में छोड़ आते हैं, ऐसा करने के पीछे माना जाता है कि लड़की को अपनाने वाले लड़के अपने घर से हर जहर को निकाल देते हैं,ताकि लड़की का जीवन खुशहाल रहे।
  3. पहाड़ी इलाकों में रिवाज है कि लड़का, लड़की के पैर का नाखून छूकर कसम खाता है कि वो उसके नाखून तक की रक्षा करेगा।
  4. शादी के बाद पहली रात में जब लड़के-लड़की मिलते हैं तो उनके तकिये के नीचे चाकू रखा जाता है ताकि दोनों का रिश्ता नजर लगने से बचे।
  5. कुछ जगह मंडप में लड़के-लड़की को रक्षा धागा बांधा जाता है ताकि दोनों को नजर ना लगे लेकिन जब तक धागा दोनों के हाथ में होता है तब तक दोनों एक-दूसरे का चेहरा भी नहीं देख सकते।
  6. बंगाल के कुछ इलाकों में दुल्हन को दूध से और दूल्हे को तेल की मालिश दी जाती है ताकि शादी के बाद दुल्हन अपने वैवाहिक जीवन में दूध जैसी पौष्टिकता और ताजगी लाये और दूल्हा अपने रिश्ते में विश्वास लाये।
  7. राजस्थान की शादियों में कुछ जगह शादी के बाद दुल्हन अपने पति को छड़ी से मारती है, यह प्रथा पति के धैर्य का टेस्ट लेने के लिए होता है।
  8. बिहार में कुछ जगहों की शादियों में जब दुल्हन घर आती है तो उसके सामने पीतल की थालियां रख दी जाती हैं और यह थालियां पारिवारिक सदस्यों के नाम की होती हैं, दुल्हन से कहा जाता है कि वो इन्हें बिना आवाज किये उठाये अगर गलती से किसी के नाम की थाली में आवाज आ जाती है तो कहा जाता है कि भविष्य में उस व्यक्ति से दुल्हन का टकराव होगा।
  9. मध्य भारत में कहीं-कहीं सास, बहू को छड़ी से मारती है यह देखने के लिए कि बहू के अंदर कितना धैर्य है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here