जयपुर में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच खूनी झड़प, एक सिपाही की मौत, इंटरनेट सेवा बंद

0
31

नई दिल्ली: राजस्थान की राजधानी जयपुर के रामगंज इलाके में शुक्रवार रात पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच जमकर झड़प हुई. जो बाद में खूनी झड़प में तब्दील हो गई. बताया जा रहा है कि पुलिस द्वारा एक दंपति की पिटाई की गई, जिससे आम लोग भड़क उठे और उन्होंने पुलिस पर हमला बोल दिया. भीड़ को काबू से बाहर होता देख पुलिस को भी बल का सहारा लेना पड़ा. वहीं घटना में कई लोगों के घायल होने के साथ एक पुलिसकर्मी की मौत भी हो गई. स्थिति को देखते हुए चार थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है.

जानकारी के मुताबिक, रामगंज इलाके में एक कांस्टेबल ने रिक्शा हटाने के दौरान एक बाइक पर सवार दंपति को डंडा मार दिया. इसके बाद लोग भड़क गए. भीड़ ने एक पावर हाउस के अलावा पुलिस के वाहन और एंबुलेंस समेत कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया. प्रदर्शनकारियों ने रामगंज थाने में भी घुसने की कोशिश की. हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे, साथ ही हवाई फायरिंग भी की.

तनाव बढ़ता देख पुलिस को अतिरिक्त फोर्स मंगवानी पड़ी. भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. मीडिया खबरों के अनुसार इस झड़प में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई है और करीब दस बुरी तरह से जख्मी हैं, जिनका इलाज अस्पताल में जारी है.

पुलिस ने आंसू गैस छोड़े
जिसके बाद उपद्रवियों को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने तुरन्त विभिन्न थानों के 150 जवानों के मौके पर भेजा। साथ ही एसटीएफ और क्यूआरटी के जवानों को भी रामगंज में तैनात किया गया। मामला बिगड़ता देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज भी किया। पुलिस की लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग में एक युवक की मौत हो गई। युवक चारदीवारी इलाके में पतंग वाले मोहल्ले का निवासी आदिल था।

ये है तनाव की वजह
मामले की शुरूआत देर रात को हुई जब साजिद नाम का युवक बाइक पर बिना हेलमेट अपने परिवार के साथ जा रहा था। अचानक एक पुलिस कांस्टेबल ने युवक पर बिना हैलमेट के होने के कारण डंडा मार दिया। जिसके बाद उसका और उसकी पत्नी का विवाद पुलिसकर्मी से हो गया।

बच्ची के हाथ टूटने की फैली अफवाह
विवाद के बाद आस-पास में यह अफवाह फैल गई कि पुलिसकर्मी के डंडे से एक बच्ची का हाथ टूट गया है। जिसके बाद थाने के आस पास हजारों की संख्या में लोग पहुंच गए। आक्रोशत लोग थाने के आसपास आगजनी करने लगे। इसके बाद भारी संख्या में पहुंचे पुलिस के जाब्ते ने मामले को संभाला। करीब 1 घण्टे के उपद्रव के बाद मामला शांत हुआ।

रात को हालात काबू में करने के बाद भी पुलिस की ओर से इलाके में कर्फ्यू जारी रखा गया है. साथ ही इलाके में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है.

http://www.citytime.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here