चतुर्थ मासिक नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ

0
95

 

छिन्दवाडा- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव और न्यायाधीश श्री संदीप कुमार पाटिल ने सभी पक्षकारों से इस नेशनल लोक अदालत में आपसी राजीनामा से अपने प्रकरणों का निराकरण कराने का अनुरोध किया है ।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव और न्यायाधीश श्री पाटिल ने बताया कि इस लोक अदालत में जिले के सभी न्यायालयों/विभागों में विचाराधीन और प्रि-लिटीगेशन आदि सभी लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये ३४ खंडपीठों का गठन कर पीठासीन अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। साथ ही अधिवक्ताओं और समाजसेवियों को भी प्रकरणों के निराकरण में सहयोग के लिये मनोनीत किया गया है। ये खंडपीठें जिला मुख्यालय पर न्यायाधीशों और श्रम न्यायालय की खंडपीठों के साथ ही तहसील स्तरीय सिविल न्यायालयों एवं पुलिस परामर्श केन्द्रों के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये गठित की गई है। इस लोक अदालत में विभिन्न न्यायालयों में सिविल और आपराधिक लंबित राजीनामा योग्य मामलों के साथ ही, मोटर दुर्घटना दावा, धारा १३८ के अंतर्गत चेक बाउन्स, श्रम विवाद, परिवारिक विवाद, भूमि अधिग्रहण, एक करोड रूपये तक की राशि के बैंक, जल कर विषयों के प्री-लिटिगेशन मामलों और अन्य लंबित राजीनामा योग्य प्रकरणों और आवेदनों का निराकरण किया जायेगा ।  उन्होंने बताय कि इस नेशनल लोक अदालत कि तैयारी के लिये बैंक, बीमा कंपनी और विधुत विभाग के अधिकारियों से प्री-सिटिंग बैठक की जाकर अधिक से अधिक प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित किया गया है । उन्होंने अधिक जानकारी के लिये जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय से संपर्क करने की सलाह दी है ।

http://www.citytime.in

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here