छोटी बाजार स्थित राममंदिर में रामलीला मे लक्ष्मण शक्ति की प्रस्तुति

0
89

छिन्दवाड़ा छोटी बाजार स्थित राममंदिर में रामलीला मे लक्ष्मण शक्ति की प्रस्तुति

छिन्दवाड़ा – छोटी बाजार स्थित राममंदिर में चल रही रामलीला में गुरूवार को शानदार लक्ष्मण शक्ति की प्रस्तुति दी गई। लंकापति रावण का दरवार लगा हुआ था। उनके गुप्तचर समाचार सुनाते हैं कि रामादल सेतु की मदद से समुद्र पार कर लंका में प्रवेश कर गए हैं। यह समाचार सुनते ही लकेश को भारी गुस्सा आ जाता है। वह तत्काल अपने जेष्ठ पुत्र मेघनाथ को युद्ध के लिए भेजते हैं। मेघनाथ पिता लंकेश से विजयी भव का आशीर्वाद लेकर युद्ध मैदान में पहुंचते हैं। यह बात भगवान राम को पता चलती है। तो वे स्वयं युद्ध में जाने के लिए तैयार होते हैं। लक्ष्मण के साथ युद्ध स्थल में सुग्रीव, विभिषण, जामवंत, अंगद और हनुमान भी जाते हैं। युद्ध मैदान में लक्ष्मण और मेघनाथ एक दूसरे को ललकाते हैं। इसके बाद शुरू होता है एक दूसरे पर शक्तियों का प्रहार। आखिर में मेघनाथ लक्ष्मण पर शक्ति से प्रहार कर देता हैं। जिससे लक्ष्मण मूर्छित होकर घरती गिर जाते हैं। भगवान राम लक्ष्मण को मूर्छित अवस्था में देखकर व्याकुल हो उठते हैं। विभीषण और जामवंत के निर्देश पर हनुमान के द्वारा सुषेण वैध को बुलाया जाता है। वह उपचार के लिए संजीवन बूटी लाने के लिए कहते हैं जो सुमेरू पर्वत पर मिलती है। हनुमानजी पूरा पर्वत ले आते हैं। सुषेण वैद्य के द्वारा लक्ष्मण जी का उपचार संजीवनी बूटी से किया जाता है। लक्ष्मण जी मूर्छा से जागृत हो जाते हैं।
इन्होंने निभाया किरदार
आज के किरदारों में राम की भूमिका में वीरेंद्र शुक्ल, लक्ष्मण ऋषभ स्थापक, हनुमान संतोष नामदेव, मेघनाथ जितेंद्र सोनी, सुग्रीव अरूण तिवारी, जामवंत सचिव विश्वर्मा, अंगद राजा दुबे, विभिषण राजू मोहोर, भरत श्रांत चंदेल, कालनेमि संतोष नामदेव, भयानक कालनेमि गगन विश्वकर्मा और सभी राक्षस और वानर दल की भूमिका में बच्चे शामिल थे।

http://www.citytime.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here